Tag » Shame

absolution

If I let you see

Some parts of my history

Would they set me free

Wiping clean the deeds

See flowers disguised as weeds

Drink blood the soul bleeds… 30 altre parole

Inspirations

Socially Acceptable Cannibalism

This piece is a combination of writings from 2015, about 2012, and then my feeings and position now in 2017.  Read my story and then tell me yours. 3.879 altre parole

And so I begin

I lost myself for a while. To abusive friendships and romantic relationships.  To fear.  Even after these things had seemingly passed I sat steeping in my trauma, depression, eating disorder.  596 altre parole

Family Genes

All the males in Neil Kramer’s family had an inherited muscular disorder — but none of them ever talked about it, or sought help. Neil breaks that pattern.

Family

नाक

उधर दिल्ली में हमारे तरक्कीपसंद चचा ने चमड़ा व्यापारी की लड़की से शादी की थी और इधर सीहोर में पूरे बामनवाडा की नाक कट गयी थी. मुझे याद है रोज़ मजमा लगता था. पता लगा था लड़की विदेश में पढ़ी है और ग़ज़ब की खूबसूरत है.
मुच्छड़ बाबा का कहना था,” ज़र या जोरू की लालसा ही इंसान को ले के डूबती है. ” गोबिंद चचा को दो खजाने एक साथ हाथ लगे थे, तो संस्कारों पे तो झाड़ू फिरना ही था. कमली ताई नसवार ठूंस कर सब को याद दिलाती थी कि,” पैसा तो हाथ का मैल है, पर नाक कट गई तो समझ लो कुछ नहीं बचता है..”
सारा गाँव बोलता था, ‘ गोबिंद ने भी ब्राह्मणों की क्या, पूरे गाँव की नाक कटवा दी.’ खानदान का नाम डुबाने का यह सुखद संताप रोज़ दो घंटे चलता था. हम भी सोचते थे कभी सीहोर से निकले तो हमें भी ऐसे नाक कटवाने के अवसर मिलेंगे.
गोबिंद चचा कभी गाँव वापस नहीं लौटे. हमें कभी कभार दिल्ली ज़रूर जाना पड़ा. बस में से मेट्रो शूज़ का इश्तिहार जब भी दिखा हमने साथ की सीट वाले को तुरंत बताया, ” यह हमारे चचा का है.” साथ में यह कहना भी ज़रूरी समझा, “ब्राह्मण हैं हम और हमने चचा को जात बाहर कर दिया है..”
पिछले हफ्ते गोबिंद भारद्वाज का मुख्यमंत्री के साथ नारनौल में कार्यक्रम था. सरकार के साथ मिलकर नौकरी के नये अवसर पैदा कर रहे हैं गोबिंद चचा. आधे से ज़्यादा सीहोर गया, बामनों का दिल तो था पर कटी नाक आड़े आ गयी.
इमरती अपने लड़के को कह रही थी, ‘ तू जल्दी निकल जाना घर से कल. पहचान तो लेगा ना. अख़बार में फोटो है साथ ले जा. सीधा पैरों में धोक खाना. बोलना दादा मैं सीहोर से फलाने ब्राह्मण का लड़का हूँ. दसवी पास कर रखी है.”
रात को लोग वापस आए तो सब के मुँह पर एक ही बात थी, ” भई, गोबिंद भाई ने सीहोर के ब्राह्मणों की क्या, पूरे गाँव की नाक ऊँची कर दी”
चंदगी अपने फार्मूले से अंदाज़ा लगा के सब को बता रहा था कि जब आज ऐसी है तो बीस साल पहले गोबिंद भारद्वाज की मेडम क्या चीज़ होगी.
हम दाँत कुचरते सोच रहे थे, ‘ क्या अचार डालेंगे इस नाक का. सारी ज़िंदगी साला ना तो कटवाने का कोई मौका मिला, ना ऊँची ही हुई .’

India

'Shame' spray-painted on Confederate monument in Virginia

NORFOLK, Va. (AP) — The word “shame” has been spray-painted on a Confederate monument in Virginia.

Media outlets report Norfolk police spokesman Daniel Hudson says officers were called to the vandalism site Monday morning. 83 altre parole

National

How Shame Drives Us From Christ

This story came up in my newsfeed today. I am taking a sick day today, but there is so much wrong here, and it is so prevalent, that I wanted to make a few comments. 1.122 altre parole

Gospel